अलविदा २०१४ – स्वागत २०१५

अलविदा २०१४ – स्वागत २०१५

जिंदगी का एक और साल कम हो गया,
कुछ पुरानी यादें पीछे छोड़ कर …

कुछ ख्वाइशें दील मैं रह जाती है …
कुछ बीन मांगे पूरी हो जाती है …

कुछ छोड़ कर चल दीये,
कुछ नये जुड़ेंगे इस २०१५ मे …

कुछ मुज़े भूल गए,
कुछ मुज़े आजभी याद करते हैं …

कुछतो मुज़े भूलेंगे नहीं !!
दिल मैं मुज़े बसाया हैं …

कुछ को मेरा इंतज़ार हैं …
कुछ का मुज़े इंतज़ार हैं …

क्या सही – क्या गलत ,
कोई गलती हुई हो तो क्षमा करना,
कुछ अच्छा लगा हो तो याद करना …

वरना वक्त का तकाजा है ,
आज नहीं तो कल
हरेक को इसमेसे गुजरना है …

अलविदा २०१४ को,
स्वागत २०१५ का …
नव वर्षकी शुभ कामनायें …

डॉ. सुधीर शाह

Advertisements

Posted on 31/12/2014, in Dr.Sudhir Shah. Bookmark the permalink. अलविदा २०१४ – स्वागत २०१५ માટે ટિપ્પણીઓ બંધ છે.

ટિપ્પણીઓ બંધ છે.

%d bloggers like this: