याद रहे की आपके पास सिर्फ वर्त्तमान होता है

याद रहे की आपके पास सिर्फ वर्त्तमान होता है
 
मतलब सिर्फ अभी –  यह क्षण आप है 
 
बस एक क्षण रुक जाए और सोचिये, की आप है 
 
और
 
देखिये कीतनी अच्छी फीलिंग महेसूस कर पाते है 
 
सोचिये बस कुछ बहुतही सुंदर पॉजिटिव करना है 
 
एक अच्छा सुंदर विचार भी आपको बदल सकता है 
 
तो फीर सही कर्म करके और सही कर्मफल प्राप्त(जमा) कर सकते हो 
 
तो 
 
वर्त्तमान का कर्म और कर्मफल प्राप्त (जमा) करनेकी आई हुई क्षण क्यों गवा दे !!
 
डॉ. सुधीर शाह का वंदन 
Advertisements

Posted on 30/11/2012, in Dr.Sudhir Shah. Bookmark the permalink. याद रहे की आपके पास सिर्फ वर्त्तमान होता है માટે ટિપ્પણીઓ બંધ છે.

ટિપ્પણીઓ બંધ છે.

%d bloggers like this: